API और Decentralized API

Decentralized API in Hindi : दोस्तो आज के समय में हम सभी मोबाइल फ़ोन, laptop, desktop, VR, आदी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते है। और हम सबको यह भी पता है की इनको इस्तेमाल करने के लिए कई प्रकार के application और software आते है। जिनकी मदत से सभी प्रकार की टेक्नोलॉजी को आसानी से इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन यहा पर एक सवाल उठता है, आखिर यह aaps और software काम कैसे करते है? जब भी हम किसी app या software के अंदर कुछ भी काम करते है चाहे वह facebook में post करना हो या instagram में किसी को message करना, यह सब काम कैसे करता है।

अगर आपको भी यह नहीं पता तो मै आपको यह बताना चाहता हु की यह सारे software और apps API की मदत से काम करते है। 

अभी हाल ही में क्रिप्टोकरेंसी बहुत ज्यादा प्रसीद हुई है और कुछ समय से यह एक चर्चा का विषय भी बानी हुई है। क्योकि कई सारे लोग भारत में इसमें इन्वेस्ट करते है और वह नहीं चाहते की यह भारत में कभी बंद हो।

तो अगर भी क्रिप्टोकरंसी के दीवाने हैं तो आपने क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज जैसे कि वजीरएक्स, बाइनेंस, आदि को जरूर इस्तेमाल किया होगा। या फिर आपने ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के बारे में तो जरूर सुना होगा क्योंकि पूरी की पूरी क्रिप्टो दुनिया इसी के ऊपर स्थित है। कोई ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी हो या फिर कोई क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज हो या कोई decentralized app हो आखिर यह सारे काम कैसे करते हैं, यह सभी भी सामान्य app और सॉफ्टवेयर की तरह ही ए.पी.आई की मदद से काम करते हैं।

लेकिन इनकी API सामान्य API से अलग होती है क्योकि यह decentralized तरीके से काम करती है जिसके बारे में हम नीचे बात करेंगे। तो अब decentralized API की बात करने से पहले सामान्य API की बात करते हैं कि आखिर API क्या होती है। और यह कैसे काम करती है? क्योंकि किसी भी चीज को जानने से पहले आपको उसके basics को जानना आवश्यक होता है इसलिए decentralized API से पहले आपको यह जानना आवश्यक है कि API क्या होती है तो चलिए जानते हैं।