Crypto News today

जानिए क्या U.S.A नहीं करेगा क्रिप्टोकरेंसी को बैन | U.S.A फ़ेडरल रिज़र्व के चेयरमैन का ब्यान

Crypto news today in Hindi : चीन में क्रिप्टोकरंसी के बैन होने के बाद पूरी क्रिप्टो दुनिया में तहलका मच गया था। क्रिप्टो मार्केट अचानक से क्रैश हो गयी थी। और यह क्रैश इसलिए भी हुआ क्योकि जितनी बिजली क्रिप्टोकरेंसी को माइन करने के लिए चाहिए वह आधी से ज्यादा चीन से आती थी। चीन में ही क्रिप्टो माइनिंग के बड़े-बड़े फार्म थे।

इस क्रैश से पहले जहां 1 बिटकॉइन की कीमत 5000000 रुपए (50 लाख रूपए) के ऊपर चल रही थी वही क्रैश के बाद उसमे भारी गिरावट आयी और वह 3-4 महीने में 2500000 रूपए (25 लाख रूपए ) तक पहुंच गयी। और इसी भारी गिरावट की वजह से बड़ी-बड़ी कंपनियों को बहुत ज्यादा नुकसान झेलना पड़ा। कई सारी कंपनियां तो ऐसी भी थी जिन्होंने अपने बिटकॉइन बेचने शुरू कर दिए।

Crypto news today in Hindi

क्रिप्टो बाजार में इतना बड़ा क्रैश आने की वजह से सबको यही लग रहा था की अब बिटकॉइन तथा अन्य सभी कॉइन की कीमत दुबारा नहीं बढ़ेगी। और इसी सोच के कारण मार्किट को जितनी जल्दी वापस उठना चाहिए था वह नहीं उठ पाई।  क्योकि कोई भी इसमें अपना पैसा डालने को राजी नहीं था। सबका विशवास क्रिप्टोकोर्रेंसी से उठ गया था। 

अगर आप जुलाई से पहले के आकड़े देखे तो कही से भी यह अंदाजा नहीं लगाया जा सकता था की मार्किट उठ सकती है। क्योकि बिटकॉइन जो की क्रिप्टोकोर्रेंसी की दुनिया का बादशाह है उसकी कीमत दिन प्रति दिन गिरती जा रही थी। और यह 2400000 तक पहुंच गयी थी। 

लेकिन जुलाई के बाद से अगर आप देखें तो फिर से मार्किट में पंप आने लगा और मार्किट तेजी से दुबारा बढ़ने लगी। और इस पंप के बाद बिटकॉइन तथा बाकी अन्य क्रिप्टोकरेंसी की कीमत में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिली। बिटकॉइन की कीमत और क्रिप्टो मार्किट की रिकवरी के कई सारे कारण बताए जा रहे हैं।

U.S.A में नहीं होगी क्रिप्टो बैन – Crypto news today in Hindi

जिसमें से सबसे बड़ा कारण यह बताया गया है कि हाल ही में U.S.A जो कि दुनिया का सबसे मजबूत देश माना जाता है। वहां के फेडरल रिजर्व के चेयरमैन Jerome Powell ने यह बयान दिया है कि U.S.A के अंदर चीन की तरह क्रिप्टो करेंसी को बैन नहीं करा जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि उनका सबसे ज्यादा ध्यान एक स्टेबल कॉइन जैसे की ईथर usdt जैसे ही कॉइन को बनाने में है। और अभी कुछ समय बाद यह भी हो सकता है कि U.S.A भी अपना एक क्रिप्टो कॉइन निकाल दें।

U.S.A के फेडरेल रिज़र्व के चेयरमैन Jerome Powell के बयान के बाद यही लग रहा है कि अब धीरे-धीरे दुनिया को क्रिप्टोकरंसी की असली कीमत दिख रही है। इसी वजह से कई सारे देश क्रिप्टोकरेंसी को स्वीकार भी करने लगे है। अगर क्रिप्टोकरेंसी को U.S.A में पूरी तरह से मान्यता दी जाती है तो यह तो तय है कि क्रिप्टोकरेंसी को पूरी दुनिया में स्वीकार कर लिया जाएगी। और यह बात कहने का सबसे मुख्य कारण यही है कि आप सभी यह तो जानते ही हैं कि दुनिया का सबसे ताकतवर देश U.S.A ही है। 

Read More : 

आपको इस बारे में क्या लगता है की क्रिप्टो का भविष्य क्या रहेगा? अपना उत्तर निचे कमेंट में जरूर बताए। 

Disclaimer

इस वेबसाइट पर दी गई जानकारी शैक्षिक और मनोरंजन उद्देश्यों के लिए है। इस वेबसाइट पर उपलब्ध कराई गई जानकारी निवेश सलाह, वित्तीय सलाह या व्यापारिक सलाह का गठन नहीं करती है। Hindi Tech World किसी भी क्रिप्टोकरेंसी को खरीदने की अनुशंसा नहीं करता है। क्रिप्टो बाजार अत्यधिक अस्थिर हैं और क्रिप्टो निवेश जोखिम भरा है। पाठकों को क्रिप्टोकरेंसी पर अपना शोध करना चाहिए और कोई भी क्रिप्टो निवेश करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से परामर्श करना चाहिए।

2 thoughts on “जानिए क्या U.S.A नहीं करेगा क्रिप्टोकरेंसी को बैन | U.S.A फ़ेडरल रिज़र्व के चेयरमैन का ब्यान”

  1. shyd isi vajah se shiba ka price badh rha hai

    Reply

Leave a Comment