SSD VS HDD in Hindi – SSD VS HDD में क्या अंतर है?

 SSD VS HDD in Hindi, क्या आप कभी कंप्यूटर लेने गए हो? अगर हाँ तो अपने जरूर SSD और HDD के बारे में सुना होगा। जब भी कोई दुकान वाला कंप्यूटर, लैपटॉप या कुछ भी सामान बेचता है तो वो आपको उस सामान की विशेषताए जरूर बताता है। तो ऐसे ही जब भी आप Laptop या Computer लेने गए होंगे तो दुकानदार ने आपको उसकी विशेषताए जरूर बताई होगी जिसमे उसने SSD और HDD के बारे में बताया होगा। अब हो सकता है की कई लोग इसके बारे में पहले से जानते हो पर जो लोग नहीं जानते की SSD VS HDD क्या है( SSD vs HDD in Hindi)SSD और HDD में क्या अंतर हैSSD और HDD दोनों में से क्या बेहतर है और ऐसे बहुत से प्रशन जो आपके मन में SSD और HDD के प्रति होंगे, यह लेख उन्ही सब लोगो के लिए है। इस लेख में आपको SSD और HDD के बारे में साड़ी जानकारी मिल जाएगी और उनसे सम्बंधित सभी प्रशनो के उत्तर भी। 

 
आज के समय में कंप्यूटर हर एक  व्यक्ति की जरुरत बन गया है और ऐसे में कंप्यूटर के बारे में कम या ना के बराबर जानकारी रखना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है।  क्युकी हम सभी के साथ कभी न कभी ऐसा होता है की हमे जितनी जरूरत होती है दुकानदार उससे कई ज्यादा अधिक सामान हमे चिपका देता है। ऐसा ही जब हम कंप्यूटर या लैपटॉप लेने जाते है तो दुकानदार हमसे हमारी जरूरत पूछे बिना ही कंप्यूटर या लैपटॉप दिखने लगता है और अगर हम इन दोनों में से सस्ता वाला चुन भी लेते है तो दुकानदार पूरी कोशिश करता है की आपको महंगे से महंगा कंप्यूटर या लैपटॉप बेच दे। जिसकी वजह से उसको तो फायदा होता है लेकिन हमे जिस चीज की जरूरत नहीं होती वो भी हम ले आते है और अनजाने में अपना नुक्सान करा बैठते है। 
तो अब यह सब जानने के बाद की कैसे आपको दुकानदार कंप्यूटर या लैपटॉप के नाम पर लूट लेते है आपको कंप्यूटर की पूरी जानकारी ले लेनी चाहिए।  और अगर आप चाहते है की आपको कोई SSD और HDD खरीदते समय बेवक़ूफ़ न बना पाए तो इस लेख को पूरा पढियेगा ताकि आप इन दोनों के बारे में सारी जानकारी ले पाए और जान पाए की आपके लिए SSD और HDD में से क्या बेहतर होगी। 
 
तो सबसे पहले जानते है की HDD क्या है? (HDD in Hindi) , इसकी फुल फॉर्म क्या है? (HDD full form in Hindi), आदी। 
 

HDD क्या है? – What is HDD in Hindi

HDD क्या है? - What is HDD in Hindi

 

HDD एक electro – mechinical data storage device है और HDD की फुल फॉर्म “Hard Disc Drive” होती है।  जिसके अंदर एक Spinning Plater लगा हुआ होता है। और यह Spinning Platter बहुत तेजी से घूम घूमकर डाटा को Read और Write करता है। HDD के अंदर यह Platter जितनी ज्यादा तेज घूमता है उतनी ही jyada जल्दी HDD काम को कर पाती है। Laptop और कंप्यूटर दोनों की HDD एक समान ही दिखती है। बस फर्क इतना सा होता है की Laptop की HDD 2.5 इंच की होती है और कंप्यूटर की 3.5 इंच की।
 
वैसे देखा जाए तो भारत और जितने भी देश है सभी जगह ज्यादातर HDD का ही इस्तेमाल होता है। जितने भी नए लैपटॉप और कंप्यूटर आते है उनमे HDD का उपयोग बहुत ज्यादा किया जाता है। चाहे सस्ता हो या महंगा दोनों ही तरह के कंप्यूटर और लैपटॉप में HDD का इस्तेमाल होता है। जो सस्ते कंप्यूटर होते है उन्हें पूरी तरह से HDD लगी हुई आती है जबकि जो महंगे कंप्यूटर होते है उनमे SSD और HDD दोनों ही लगी हुई आती है। 
HDD की storage capacity बहुत ज्यादा होती है यह 1TB से लेकर 18TB तक होती है। यह बहुत सस्ती भी होती है आम तोर पर 1TB HDD हमे बाजार में 3-4 हजार तक की मिल जाती है। 
 
लोगो की पहली पसंद भी HDD ही कहलाती है क्युकी यह बहुत पुरानी है और इसी को ज्यादातर लोग जानते है। HDD का निर्माण IBM द्वारा 1956 में किया गया था। और IBM ने जो पहली HDD बाजार में निकली थी उसका नाम RAMAC था। RAMAC को IBM 350 नामक storage system में लगाया जाता था। जिसका खुद का आकर दो बड़े फ्रिज (Refrigerator) के बराबर था।  
 
 

SSD क्या है? – What is SSD in Hindi

SSD क्या है? - What is SSD in Hindi

 

SSD की फुल फॉर्म “Solid State Drive” है। यह एक नई पीढ़ी की storage device है। जिसके अंदर कोई भी spinning platter नहीं होता। इसके अंदर chips लगी होती है जो NAND flash memory कहलाती है। इसमें spinning platter न होने की वजह से इसको डाटा read/write करने में बहुत ही काम microseconds लगते है और यही एक कारण है की यह HDD के मुकाबले कई गुना ज्यादा तेज होती है। जहा HDD 50MB प्रति second से लेकर 120MB प्रति second तक डाटा को ट्रांसफर करती है वही SSD 100MB प्रति second से लेकर 500MB प्रति सेकंड तक डाटा ट्रांसफर करती है। SSD CPU के अंदर जो Motherboard होता है उसमे लगाई जाती है। 
 
SSD का आविष्कार होना सन 1950 में शुरू हुआ था और सन 1970 के बाद यह इस्तेमाल में ली जाने लगी। लेकिन इसको उस समय तक आम इंसानो के इस्तेमाल के लिए नहीं बनाया जाता था। 1970 में SSD को सिर्फ HIGH-END वाले Super Computers में इस्तेमाल किया जाता था। आम इंसानो के लिए SSD सन 2000 के बाद ही बाजार में आयी।  क्युकी 1970 के बाद SSD के उप्पेर नए नए experiment किये गए थे और सन 2000 तक SSD में innovation होने के कारन इसकी कीमत गिर गई थी। अब यह ज्यादा बेहतर लम्बे समय तक चलने वाली किफायती storage device बन गयी है। 
 
आप लोगो ने यह तो जान लिया की HDD क्या है और SSD क्या है और इन दोनों का थोड़ा बहुत इतिहास। तो चलिए अब यह भी जान लेते है की SSD VS HDD in Hindi में क्या अंतर है?
 

SSD VS HDD में क्या अंतर है? – SSD VS HDD in Hindi

अभी तक मै आपको SSD VS HDD in hindi के विषय में कई सारी बाते बता चूका हु। अब इन दोनों में कुछ points के उप्पेर आपको अंतर बताऊंगा ताकि इन दोनों से सम्बंधित आपके मन में सारे सवाल ख़तम हो जाए। तो चलिए शुरू करते है।
 

1. Speed ( गति )

SSD की speed HDD की तुलना में कई गुना ज्यादा अधिक है। HDD की read / Write  करने की speed 50MB प्रति second से लेकर 120MB प्रति second तक है। और SSD की speed 100MB प्रति second से लेकर 500MB प्रति सेकंड तक है। तो इससे साफ़ जाहिर होता है की अगर हम speed की बात करे तो SSD HDD से कई गुना बेहतर है। 
 
पहले Point में SSD ने बाज़ी मार ली है।
 

2.Power Consumption  (बिजली की खपत)

HDD में किसी भी डाटा को load या read / write करने के लिए सबसे पहले spinning platter घूमना पढता है जिसके वजह से यह 6 वाट से लेकर 8 वाट तक बिल्जी की खपत करता है। और वही दूसरी तरफ SSD में ऐसा कुछ भी नहीं होता जिसकी वजह से यह 2 वाट से लेकर 3 वाट तक बिजली की खपत करती है जो की HDD के मुकाबले में बहुत कम है।
 
दूसरे Point में भी SSD ने कम बिजली की खपत के साथ बाजी मार ली।
 

3. Storage Capacity ( डाटा को Store करने की क्षमता)

जहा HDD पिछले दो Points में पीछे रही है वही तीसरे point में यह बाज़ी मार लेती है। क्युकी HDD की Storage Capacity बहुत  ज्यादा होती है। यह 1TB से लेकर 18TB तक होती है। वही दूसरी तरफ SSD में देखा जाए तो  यहां ज्यादा तर 120GB से  लेकर 500GB तक की ही Storage Capacity होती है।
 

4. Boot Time (Boot करने का समय)

HDD का Boot Time SSD के मुकाबले में ज्यादा है। इसको कुछ निश्चित तोर से बताया नहीं जा सकता क्युकी यह Storage के भरने पर बढ़ जाता है और storage के खाली होने पर कम भी हो जाता है। लेकिन SSD चाहे भरी हो या खाली HDD से Boot होने में कम समय ही लेती है। 
 

5. Noise (शोर)

HDD में spinning platter लगे होने की वजह से यह बहुत शोर करती है। इसपर जीतन ज्यादा डाटा को store करने का दबाब पढता है उतनी ही तेज इसके platter को घूमना पढता है और ज्यादा तेज घूमने की वजह से ही शोर होता है। दूसरी तरफ SSD किसी भी प्रकार का शोर नहीं करती क्युकी यह Nand Chip technology  का इस्तेमाल करती है जहा किसी platter की जरुरत नहीं पढ़ती और न ही शोर होता है।
 

6. Cost (कीमत)

HDD SSD के मुकाबले में बहुत ज्यादा सस्ती है। 500GB SSD का price 2-3 हजार है वही दूसरी तरफ इतने में 1TB HDD आ जाती है।
 
अब आपने SSD और HDD दोनों के बारे में सब जान लिए है जैसे की SSD क्या है?, HDD क्या है?, इनके बीच का अंतर,आदी। तो अब यह भी जान लेते है की आपके लिए क्या बेहतर है।
 

SSD VS HDD in Hindi में से क्या बेहतर है ?

देखिये इस का कोई सरल जवाब तो है नहीं क्युकी हर किसी की जरूरत अलग अलग होती है कोई ऑफिस के काम के लिए कंप्यूटर लेरहा है तो तो गेम्स को खेलने के लिए। उप्पेर जो अंतर बताए गए है उनमे आपको एक अंदाजा तो लग ही गया होगा की आपके लिए क्या बेहतर होगी और अगर नहीं लगा तो यह जान लीजिये की अगर आपको ऑफिस के काम के लिए कंप्यूटर लेना है तो उसमे आप HDD का इस्तेमाल भी कर  लेकिन अगर आपको गेम्स खेलने के लिए कंप्यूटर लेना है तो उसमे आप SSD का ही प्रयोग करे क्युकी वह ज्यादा तेज होती है तो गरम भी बहुत काम होती है।
लेकिन अगर आप चाहते है की आपको ऑफिस और गेम्स दोनों के लिए storage device लेना है तो आप 120GB से लेकर 500GB तक SSD और 1TB HDD को अपने कंप्यूटर में  है इसके आपको ज्यादा स्टोरेज भी मिलेगी और speed भी। आजकल जो भी कंप्यूटर और लैपटॉप बाजार में आ रहे है उनमे ज्यादातर यही हो रहा है दोनों storage device लगे आ रहे है।
 

आपने आज क्या सीखा

आपने आज के इस लेख में SDD VS HDD in Hindi मतलब SDD और HDD क्या है इनके बीच का अंतर कौन बेहतर है इनका इतिहास यह सब सीखा है।
आशा करता हु की आपको यह लेख पसंद आया होगा और आपके मन में इन दोनों हार्डड्रिवेस को लेकर जितने भी प्रश्न थे वो ख़तम हो गए होंगे। और अगर अभी भी कोई प्रश्न आपके मन में है तो आप नीचे कमेंट के माध्यम से हमसे उसको पूछ सकते है।
 

F.A.Q (Question Hub)

1. Hard Disk गर्म क्यों होता है इसका उपाय क्या है?

अगर हम HDD की बात करे तो वह गरम इसलिए हो जाती है क्युकी उसमे Spinning Platter लगा हुआ होता है। और जब भी Hard Disk को इस्तेमाल किया जाता है डाटा को read / write करने क्र लियर तो वो spinning platter बहुत तेज तेज घूमता है। जिसके कारन Hard Disk गरम हो जाती है। और SSD वैसे तो बहुत ही का गरम होती है। इसके गरम होने का कारन एक ही है की यह हमेशा डाटा को store करके रखती है उसको कभी खोने नहीं देती।  
 

2. Disk Management kya hai?

Disc Management एक Microsoft Windows ki उपयोगिता है जिसे सबसे पहले विंडोज XP में floppy disk कमांड के प्रतिस्थापन के रूप में पेश किया गया था। यह उपयोगकर्ताओं को उनके कंप्यूटर में स्थापित डिस्क ड्राइव को देखने और Manage करने में सक्षम बनाता है। 
 

3. Secondary Storage konsa hai RAM or ROM disk?

ROM 
 
अगर आपके मन में भी ऐसे सवाल है तो उनको कमेंट में पूछे।

Paragraph

क्या आप कभी कंप्यूटर लेने गए हो? अगर हाँ तो अपने जरूर SSD और HDD के बारे में सुना होगा। जब भी कोई दुकान वाला कंप्यूटर, लैपटॉप या कुछ भी सामान बेचता है तो वो आपको उस सामान की विशेषताए जरूर बताता है। तो ऐसे ही जब भी आप Laptop या Computer लेने गए होंगे तो दुकानदार ने आपको उसकी विशेषताए जरूर बताई होगी जिसमे उसने SSD और HDD के बारे में बताया होगा। अब हो सकता है की कई लोग इसके बारे में पहले से जानते हो पर जो लोग नहीं जानते की SSD VS HDD क्या हैSSD और HDD में क्या अंतर हैSSD और HDD दोनों में से क्या बेहतर है और ऐसे बहुत से प्रशन जो आपके मन में SSD और HDD के प्रति होंगे, यह लेख उन्ही सब लोगो के लिए है। इस लेख में आपको SSD और HDD के बारे में साड़ी जानकारी मिल जाएगी और उनसे सम्बंधित सभी प्रशनो के उत्तर भी। 

Leave a Comment