सोलाना कॉइन क्या है | क्या सचमे सोलाना बन सकता है अगला एथेरेयम | Solana Coin in Hindi

Solana Coin in Hindi : दोस्तों, आपने सोलाना कॉइन के बारे में तो सुना ही होगा। यह कॉइन पिछले कुछ समय से बाइनैंस के ऊपर ट्रेंडिंग में चल रहा है। मुझे पता है की आप में से कई सारे लोग सोलाना कॉइन के बारे में सारी जानकारी नहीं मिल रही होगी। जिसकी वजह से सोलाना कॉइन में इन्वेस्ट करना चाहिए या नहीं आपको यह तेह करने में दिक्कत हो रही होगी। आज आपकी इसी दिक्कत को दूर करने के लिए मै इस लेख के अंदर हम सोलाना कॉइन के बारे में साड़ी जानकारी देने वाला हु।

वैसे तो सोलाना कॉइन को मार्किट में आए हुए कुछ ज्यादा समय नहीं हुआ है। लेकिन जिस तरह यह कॉइन लोगों के बीच लोकप्रिय होता जा रहा है कुछ लोगों ने यह तक कह दिया है कि यह अगला एथेरियम हो सकता है। आपको यह तो पता ही होगा की जब एथेरियम मार्किट में आया था उस समय एथेरेयम की कीमत भी ना के बराबर थी,। यह भी ज्यादा से ज्यादा ₹50 में ही मार्केट के अंदर निकला था। लेकिन अगर एथेरेयम की आज की कीमत को देखा जाए तो यह सबके होश उड़ाने वाली बात है की एथेरियम ₹2,50000 का हो गया है।

सोलाना कॉइन के बारे में भी लोगों का मानना यही है कि सोलाना भी आने वाले कुछ सालों के अंदर इतना ज्यादा बढ़ सकता है। तो दोस्तों अगर आप भी सोलाना कॉइन क्या है इसके बारे में जानना चाहते हैं। या सोलाना कॉइन से संबंधित कोई और प्रश्न जैसे कि सोलाना कॉइन को किसने बनाया, सोलाना कॉइन का इतिहास क्या है, सोलाना कॉइन कितने हैं, आदी। आपके ऐसे कई सारे प्रश्नों के उत्तर आज आपको इस लेख में मिलेंगे। तो सोलाना कॉइन के बारे में सारी जानकारी जानने के लिए इस लेख को आखिर तक पढियेगा। चलिए बिना और वक्त गवाए शुरू करते हैं अपने सबसे पहले प्रश्न के जवाब सोलाना क्या है?

Solana coin in Hindi
Solana coin in Hindi

सोलाना कॉइन क्या है – What is Solana Coin in Hindi

सोलाना, एथेरेयम और ट्रोन की तरह ही एक डिसेंट्रलाइज ब्लॉकचेन प्लेटफार्म है। यह एक ओपन Open-Source project है जिसका इस्तेमाल Decentralized apps को बनाने के लिए और ट्रांजैक्शन करने के लिए किया जाता है। सोलाना कॉइन, सोलाना प्लेटफॉर्म के ऊपर इस्तेमाल करने के लिए ही बनाया गया है। और इसका कोड नाम “SOL” है। इसका इस्तेमाल सोलाना प्लेटफार्म के ऊपर ट्रांजैक्शन करने के लिए किया जाता है। 

Solana बाकी ब्लॉकचैन प्लेटफार्म की तरह proof-of-stake पर काम करने के अलावा proof-of-history पर काम करता है। इसके अंदर यह snapshots लेकर अपने पास रखता है। 

सोलाना कॉइन का इतिहास – History of Solana coin in Hindi

सोलाना कॉइन को 2017 में मार्केट में लाया गया था। इस कॉइन की कीमत अपने शुरुआती समय में कुछ ज्यादा खास नहीं थी। जब सोलाना कॉइन को 11 अप्रैल 2020 के दिन लांच किया गया था उस समय इसकी कीमत ₹59 थी। 11 अप्रैल से लेकर 26 जून 2020 तक इस कॉइन के अंदर कुछ खास उछाल देखने को नहीं मिला था। लेकिन 26 जून के बाद इसकी कीमत के अंदर हलचल होने लगी थी।

इस कॉइन की कीमत में पहला बड़ा उछाल 13 अगस्त 2020 को आया जब इसकी कीमत ₹280 तक पहुंच गई। उसके बाद जैसा कि सभी कॉइन के साथ होता है इसकी कीमत कभी थोड़ी ज्यादा ऊपर तो कभी थोड़ी ज्यादा नीचे चली जाती थी। लेकिन इस कॉइन का दूसरा बड़ा उछाल 24 फरवरी 2021 में आया जब इसकी कीमत ₹1,252 हो गई। इस कॉइन के तीसरे बड़े उछाल की बात करें तो वह 18 मई 2021 में आया जब इसकी कीमत ₹4,096 हो गई थी।

इस कॉइन के प्रोजेक्ट और इसकी कीमत में इतने बड़े-बड़े उछाल को देखकर ही लोगों ने सोलाना कॉइन को अगला एथेरेयम कहां है।

सोलाना कॉइन के जनक – Who Invent Solana Coin in