कीबोर्ड क्या है और इसके प्रकार क्या होते है? – Keyboard in Hindi

Keyboard in Hindi : दोस्तों जैसे की आप जानते ही होंगे की कंप्यूटर किसी एक part या हार्डवेयर से नहीं बनता। इसको बनाने के लिए हार्डवेयर, इनपुट और आउटपुट डिवाइस, आदी की जरुरत पढ़ती है। जैसे की RAM, CPU, GPU, माउस, motherboard, आदी। यह सभी कंप्यूटर के लिए बहुत जरुरी होते है। हालांकि इनमे से सबसे जरुरी तो हार्डवेयर और आउटपुट डिवाइस है। क्योकि हार्डवेयर के बिना न तो कंप्यूटर बन सकता है और आउटपुट डिवाइस के बिना न हम कुछ देख पाएंगे की कंप्यूटर के अंदर की चल रहा है। लेकिन जब बात इनपुट डिवाइस की आती है। तो इनकी भी कंप्यूटर के अंदर बहुत अहम् भूमिका होती है।

भले ही आप एक कंप्यूटर बना ले या कही से खरीदके ले आए। लेकिन बिना इनपुट डिवाइस के चला नहीं पाएंगे। क्योकि कंप्यूटर को चलाने के लिए उसको इनपुट देना पढता है। जब तक उसको कोई इनपुट नहीं मिलता तब तक वह अपनी मर्जी से कुछ कार्य नहीं कर सकता। इनपुट देने के लिए सबसे मह्तवपूण डिवाइस कीबोर्ड होता है। कंप्यूटर के अंदर सबसे ज्यादा इनपुट कीबोर्ड की मदत से ही दिया जाता है।

आज हम इस लेख में सबसे महत्वपूर्ण इनपुट डिवाइस कीबोर्ड के बारे में जानेंगे। की कीबोर्ड क्या होता है? (Keyboard in Hindi), कीबोर्ड के प्रकार, इसका इतिहास, और कीबोर्ड के कुछ उदहारण। तो चलिए बिना और वक़्त गवाए पहले की कीबोर्ड की होता है।

Keyboard in Hindi
Keyboard in Hindi

कीबोर्ड क्या होता है – What is Keyboard in Hindi

कीबोर्ड एक महत्वपूर्ण इनपुट डिवाइस है। कंप्यूटर को इस्तेमाल करने के लिए सबसे ज्यादा जरुरत कीबोर्ड की पढ़ती है। कीबोर्ड की मदत से यूजर कंप्यूटर के अंदर characters जैसे letters, symbols और numbers लिख सकता है। कीबोर्ड की मदत से कंप्यूटर में किसी भी character लिखने को Typing कहा जाता है। कीबोर्ड सिर्फ character लिखने के काम ही नहीं आता। यह और भी कार्य करता है।

कीबोर्ड के अंदर बहुत सारे button और switches लगे हुए होते है जिनको keys कहा जाता है। जब भी कोई यूजर किसी key को दबाता है। तो एक circuit बंद होजाता है। जिसकी वजह से कंप्यूटर को signal मिलता है। और यह signal कंप्यूटर को बताता है की कोनसा letter, number या symbol लिखना है। और इसके बाद ही कंप्यूटर स्क्रीन पर character दीखता है। 

कीबोर्ड लिखने के अलावा भी बहुत से कार्य करता है। कीबोर्ड के पास चार arrow keys होती है जिसकी मदत से हम लिखते समय cursor को उप्पर, निचे, दाए और बाए लेजा सकते है। दो Ctrl keys होती है। Ctrl key का इस्तेमाल दूसरी keys के साथ किया जाता है। जैसे की Ctrl और C को आप एक साथ दबाएंगे तो किसी भी Text, file, audio, video, आदी को कॉपी कर पाएंगे। और इसी की तरह अगर आप Ctrl और V को एक साथ इस्तेमाल करते है। तो आप कॉपी की हुई चीज की एक नक़ल कही भी paste कर पाएंगे।

कीबोर्ड की ऐसी ही और भी खासियत के बारे में हम निचे बात करेंगे। तो इस लेख को आखिर तक पढ़िएगा। 

कीबोर्ड के कितने प्रकार है – Types of Keyboard in Hindi

वैसे तो कीबोर्ड (Keyboard in Hindi) कई प्रकार के होते है। लेकिन इसके 2 प्रकार ऐसे है जिसके उप्पर बाकी प्रकार बने है। पहला है Basic Keyboard  और दूसरा है Extended Keyboard . अब आप सोच रहे होंगे आखिर यह Basic और extended क्या है। देखने में तो सभी कीबोर्ड एक समान ही लगते है। लेकिन ऐसा नहीं है। कीबोर्ड के प्रकार और उनके अंदर इस्तेमाल होने वाली टेक्नोलॉजी अलग अलग होते है। जैसे की Full press membrane keyboard, यह ऐसी कीबोर्ड टेक्नोलॉजी है जो सबसे ज्यादा कंप्यूटर के साथ इस्तमाल होता और एक होता है Scissor switch keyboard यह ज्यादा तर notebook जैसे डिवाइस के साथ इस्तेमाल होता है। 

तो अब सबसे पहले हम Keyboard in Hindi के प्रकार के बारे में जानकारी ले लेते है। 

कीबोर्ड के तीन प्रकार होते है। 

1. QWERTY Keyboard 

यह कीबोर्ड सबसे प्रचलित कीबोर्ड है। इसकी keys का pattern typewriter के keys की तरह होता है। जब भी कोई इंसान चाहे बच्चा हो या बूढ़ा कंप्यूटर में typing करना सीखता है तो सबसे पहले इसी कीबोर्ड से उससे सिखाया जाता है। QWERTY कीबोर्ड सबसे सामान्य कीबोर्ड है यह आमतोर पर हर कंप्यूटर के साथ देखने को मिल जाता है। और इसी कारन ज्यादातर लोग सिर्फ एक ही कीबोर्ड के बारे में जानते है। और उन्हें लगता है की कीबोर्ड सिर्फ एक प्रकार का होता है। 

2. DVORAK Keyboard

इसका डिज़ाइन दूसरे कीबोर्ड से अलग होता है। इस कीबोर्ड को जल्दी जल्दी type करने के लिए  बनाया गया है। इसकी keys का पैटर्न कुछ इस तरह है की जितनी भी keys type करते वक़्त सबसे ज्यादा इस्तेमाल होती है उनको बीच में रखा गया है। जिससे यूजर की typing speed तेज हो सके। 

3. AZERTY कीबोर्ड

AZERTY कीबोर्ड QWERTY कीबोर्ड से बहुत ज्यादा मिलता जुलता है। इससे फ्रांस में बनाया गया है। इसमें और QWERTY में बहुत छोटे छोटे अंतर है जो इन दोनों को अलग बनाते है। जैसे की, जहा QWERTY कीबोर्ड में W और Q होता है AZERTY में आपको उसकी जगह A और Z देखने को मिल जाएगा।  ऐसे ही छोटे छोटे अंतर है इन दोनों कीबोर्ड में। 

ऊपर आपने कीबोर्ड के प्रकारो के बारे में तो जानकारी लेली तो चलिए अब उनके उदहारणों के बारे में भी जानकारी लेलेते है। निचे दी गयी सूचि में इन तीनो प्रकार के कीबोर्ड के कुछ उदहारण दिए गए है।  

कीबोर्ड के उदहारण – Examples of Keyboard in Hindi

वायर्ड कीबोर्ड Wired Keyboard
वायरलेस कीबोर्ड Wireless Keyboard 
ब्लूटूथ कीबोर्ड Bluetooth Keyboard
एर्गोनॉमिक कीबोर्ड Ergonomic Keyboard
न्यूमेरिक कीबोर्ड Numeric Keyboard
मेम्ब्रेन कीबोर्ड Membrane Keyboard
बैकलिट कीबोर्डBacklit Keyboard 

1. वायर्ड कीबोर्ड 

वायर्ड कीबोर्ड सबसे सस्ते और किफायती होती है। यह लम्बे समय तक चलते है। यह भी दो प्रकार में आते है। एक  USB और एक होता है DIN PIN वाले। DIN पिन का इस्तेमाल अब न के बराबर कर दिया गया है क्योकि उसकी जगह USB ने लेली है। 

2. वायरलेस कीबोर्ड

वायरलेस कीबोर्ड वह कीबोर्ड है जो कंप्यूटर के कनेक्ट होने के लिए Infrared waves या Radio frequency का इस्तेमाल करते है। यह वायर्ड कीबोर्ड के मुकाबले थोड़े महंगे होते है। 

3. ब्लूटूथ कीबोर्ड 

इसके नाम से ही पता चलता है की यह कीबोर्ड कंप्यूटर से कनेक्ट होने के लिए Bluetooth टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते है। इनको इस्तेमाल करने के दो नुक्सान भी है। पहला की इसको वायरलेस कीबोर्ड के मुकाबले कंप्यूटर से ज्यादा दूर बैठकर नहीं इस्तेमाल कर सकते। और दूसरा इसकी बैटरी बहित जल्दी खत्म हो जाती है। 

4. एर्गोनॉमिक कीबोर्ड 

एर्गोनॉमिक कीबोर्ड इंसानो की परेशानी को ध्यान में रखते हुए बनाया जाता है। यह एक आरामदायक कीबोर्ड होता है। इसको इस्तेमाल करने से न तो आपके हाथो में दर्द होगा और न ही आपकी उंगलिया थकेगी। 

5. न्यूमेरिक कीबोर्ड

कई सारे कीबोर्ड ऐसे होते है जिसके अंदर कोई नंबर pad नहीं होता है। जिसके कारण कीबोर्ड इस्तेमाल करते समय यूजर को नंबर लिखने में बार बार ऊपर की keys का इस्तेमाल करना पढता है। इसकी वजह से उनकी typing speed काम होती है। तो इसी चीज को ध्यान में रखते हुए न्यूमेरिक कीबोर्ड(Keyboard in Hindi) बनाया जाता है। जिसमे सभी character होने के साथ साथ एक नंबर pad अलग से सीधे हाथ पर बनाया जाता है। 

6.  मेम्ब्रेन कीबोर्ड 

मेम्ब्रेन कीबोर्ड (Keyboard in Hindi) में keys के बीच में ज्यादा space नहीं होता। और इसकी keys touch sensitive होती है। हल्का सा भी दबाव पढ़ने पर यह टाइप कर देती है। यह ज्यादातर आपको लैपटॉप में देखने को मिल जाएंगे। क्योंकी मिनी-लैपटॉप के अंदर एक पतला और छोटा कीबोर्ड fit किया जाता है। इसमें बड़ा कीबोर्ड नहीं लगाया जा सकता। 

7. बैकलिट कीबोर्ड 

यह कीबोर्ड आज के समय में बहुत ज्यादा प्रचलित है। इन कीबोर्ड के अंदर लाइट लगी हुई होती है। जो अलग अलग रंग में जलती है। इसका इस्तेमाल करके आप अँधेरे में बैठकर भी type कर सकते है। 

अभी तक हम कीबोर्ड के बारे में ऊपर ऊपर से जान पाए है। जैसे कीबोर्ड की परिभाष, उसके प्रकार और उसके उदहारण। पर इतनी जानकारी काफी नहीं है तो इसलिए चलिए अब कीबोर्ड के बारे में अंदर से जानते है। अब (Keyboard in Hindi) कीबोर्ड के बटन के बारे में जानकारी कुछ अलग तरह से लेते है। और उसके बाद कीबोर्ड में कितनी Keys होती है? keys के प्रकार कितने है, आदी के बारे में जानेंगे। 

निचे तीनो प्रकार के कीबोर्ड की तस्वीरें दी गयी है – Images of Keyboard in Hindi

1. QWERTY Keyboard  

2. Azerty Keyboard

3. Dvorak Keyboard

QWERTY Keyboard
QWERTY Keyboard in Hindi Source Wikipedia
AZERTY Keyboard
Azerty Keyboard in Hindi
Dvorak Keyboard
Dvorak Keyboard in Hindi

कीबोर्ड के बटन के बारे में जानकारी 

 कीबोर्ड में चार तरह के बटन होते है। 

Command keys 
Alphanumeric keys 
Navigation keys 
Punctuation Keys 

Command Keys 

यह Keys हर कीबोर्ड(Keyboard in Hindi) में नहीं होती यह ज्यादातर Apple MAC के कीबोर्ड में होती है। सामान्य Windows वाले कीबोर्ड में आप command key की जगह Ctrl को इस्तेमाल कर सकते है। असल में Command key कंप्यूटर कीबोर्ड shortcuts के लिए इस्तेमाल होती है। चलिए इसको विस्तार में बतात हु। 

Keyboard Shortcuts with Command key
Apple MAC में Command key और सामान्य Window कीबोर्ड में Ctrl key दोनों एक समान है। यहां पर मै ज्यादातर इस्तेमाल होने वाले Window कीबोर्ड के आधार पर shortcuts बता रहा हु। आप उसको Apple MAC में भी इस्तेमाल कर सकते है। 
Ctrl + ANotepad या कही भी इन दोनों keys को एक साथ दबाने से सारा text select हो जाता है। 
Ctrl + Bnormal text को Bold text में बदल देता है। 
Ctrl + Cकिसी भी selected object को कॉपी करता है /
Ctrl + Dbrowser के अंदर जो भी site खुली होती है उसको bookmark करता है। 
Ctrl + Eइसका इस्तेमाल MAC में disc और volume को eject करने के लिए किया जाता है। 
Ctrl + Fbrowser के अंदर Find टूल को open करता है जो किसी भी एक शब्द को ढूंढ़ने में मदत करता है। 
Ctrl + Gइसका इस्तेमाल find टूल में जितने result आते है उसमे अगला result देखने के लिए किया जाता है। 
Ctrl + Hकिसी भी text editor के अंदर शब्द को ढूंढ़ने और फिर उसको बदलने में काम आता है। 
Ctrl + Iselected text को Italic फॉर्म में बदलता है। 
Ctrl + JMAC में view option window को खोलता है। 
Ctrl + Kselected text में Hyperlink जोड़ता है। 
Ctrl + LMicrosoft word में किसी भी object को Left align करता है। 
Ctrl + M MAC के अंदर application को minimize करता है। 
Ctrl + Nनया पेज या document बनाता है। 
Ctrl + Oज्यादातर प्रोग्राम्स में File को open करता है। 
Ctrl + P

स्क्रीन पर दिख रहे पेज को प्रिंट करने के लिए प्रिंट window को open करता है। 

Ctrl + QMAC में प्रोग्राम को बंद करने या उससे बाहर निकालता है। 
Ctrl + RRuler को दिखाने और छिपाने का काम करता है। 
Ctrl + SDocument को save करता है। 
Ctrl + TBrowser के अंदर New Tab को open करता है। 
Ctrl + USelected text को underline करता है। 
Ctrl + Vकॉपी की गयी कोई भी file, object, text, आदी को paste करता है। 
Ctrl + Wapplication के अंदर current window को बंद करता है। 
Ctrl + XSelected object को cut करता है। 
Ctrl + Yकोई भी action जो अभी अभी Undo किया गया हो उसे Redo करता है। 
Ctrl + Zकोई भी action जो अभी अभी किया गया हो उसे UNDO करता है। 
Ctrl + 1पहली tab पर switch करता है। 
Ctrl + 2दूसीर tab पर switch करता है। 
Ctrl + 3तीसरी tab पर switch करता है। 
Ctrl + 4चौथी tab पर switch करता है। 
Ctrl + 5पांचवी tab पर switch करता है। 
Ctrl + 6चट्टी tab पर switch करता है। 
Ctrl + 7सातवीं tab पर switch करता है। 
Ctrl + 8आठवीं tab पर switch करता है। 
Ctrl + 9नवमी tab पर switch करता है। 
Ctrl + Deleteselected object को permanently delete करता है। 

Alphanumeric Keys 

Alphanumeric keys वह keys होती है जो एक सामान्य कीबोर्ड में लगी हुई रहती है। A से लेकर Z तक और 0 से लेकर 9 तक सभी keys को एक साथ Alphanumeric keys कहा जाता है। एक Alphanumeric keys कीबोर्ड पांच rows में बटा हुआ होता है। सबसे ऊपर की रौ में नंबर होते है। फिर उसके निचे की row में Alphabetic characters और सबसे निचे बचते है space bar, alt, control, आदी। 

Navigation Keys

Navigation keys आठ तरह की होती है। जिसमे PgUp, PgDn, Home, End Key यह सभी तो आपको कीबोर्ड ऊपर दाए तरफ दिख जाएगी। और आठ में से चार Arrow keys होती है। जो की कीबोर्ड (Keyboard in Hindi) में निचे दाए तरफ ही लगी हुई होती है। यह सारी navigation keys cursor को चलाने के काम आती है। 

Punctuation Keys

जैसा इन keys का नाम है वैसा ही इनका काम भी है। Type करते समय यह keys sentence के अंदर punctuation लगाने के काम आती है। Punctuation जैसे comma, Full Stop, आदी। 

Keys के प्रकार 

Keys 6 प्रकार की होती है :-

फंक्शन कीस Function Keys 
न्यूमेरिक कीस Numeric Keys 
नेविगेशन कीस Navigation Keys
टाइपिंग कीस Typing Keys 
इंडिकेटर केस Indicator Keys 
कण्ट्रोल कीस Control Keys 

चलिए इन सभी keys के बारे में विस्तार से जानते है। 

Function Keys

 Function keys कीबोर्ड में सबसे ऊपर स्थित 12 keys होती है। इनको पहचानना बहुत आसान होता है। इनको ऊपर F1, F2, F3 लिखा हुआ होता है और यह F12 तक होती है। यह Keys किसी एक कार्य के लिए नहीं बानी होती इनके अलग अलग Application और सॉफ्टवेयर के अंदर अलग अलग कार्य होते है।  

Numeric Keys 

Numeric keys (Keyboard in Hindi)कीबोर्ड में दाए तरफ स्थित होती है। यह keys का एक समूह(Group) होता है जिसकी वजह से टाइपिंग बहुत तेज हो  जाती है। इसके अंदर 0 से लेकर 9 तक नंबर होते है। और साथ ही में इसमें गुणा, भाग, घटा और जमा करने के लिए keys दी गयी होती है। हम यह कह सकते है की कीबोर्ड के side में यही एक छोटा सा calculator दिया हुआ होता है। 

Navigation Keys 

Navigation keys कीबोर्ड (Keyboard in Hindi) के अंदर आठ प्रकार की होती है। जिसमे चार तो numeric keys के ऊपर लगी हुई होती है। जिन्हे PgUp, PgDn, Home और End कहा जाता है। और बाकी की चार keys numeric कीबोर्ड के निचले हिस्से के बाए तरफ लगी होती है। और इन्हे Arrow keys कहते है। 

Typing Keys 

Typing keys के अंदर सभी keys को गिना जाता है। चाहे वो letter हो, या Number हो या फिर symbol keys हो। जितनी भी keys एक पुराने typewriter के ऊपर पाई जाती है। वही सारी keys कीबोर्ड के अंदर typing keys कहलाती है। 

Indicator Keys 

Indicator keys उन keys को कहा जाता है जो जब भी दबाई जाती है तो वह एक छोटी सी लाइट के ज़रिये बताती है की वह ON है या OFF है। Indicator keys 3 तरह की होती है। पहेली Caps Lock जो letters को uppercase या lowercase में type करने में मदत करती है। दूसरी Num Lock यह indicate करती है की कीबोर्ड के दाए तरफ जो numeric keys लगयी हुई है वो ON है या OFF है। Numeric keys को सिर्फ तभी इस्तेमाल किया जा सकता है जब Num Lock ON हो और उसके उप्पेर लाइट जल रही हो। और आखिर में तीसरी Indicator key होती है Scroll Lock.

Control Keys 

Control keys को हमेशा या तो अकेले या फिर Combination में इस्तेमाल किया जाता है। वैसे देखा जाए तो इसका इस्तेमाल ज्यादातर combination में ही किया जाता है। मैंने control keys के इस्तेमाल कीबोर्ड शॉर्टकट्स वाले paragraph में ऊपर बताया है की इनको कैसे इस्तेमाल करते है। 

कीबोर्ड में कितनी keys होती है

पहले के समय में QWERTY कीबोर्ड में सिर्फ 84 keys होती थी। लेकिन अब modern (Keyboard in Hindi) कीबोर्ड के अंदर 104 keys होती है। उनमे से आधी से ज्यादा के बारे में तो आप जानते होंगे लकिन जिन कीस का मतलब आप नहीं जानते उनके बारे में मै निचे बताऊंगा। जैसे symbol keys आदी। 

Keys Explanation
~Tilde
`Back Quote
!Exclamation Mark
@Ampersat
#Hash
$Dollar
%Percent
Euro
^Caret
&Ampersand
*Asterisk
( left parenthesis
)Right parenthesis
_Underscore
Hyphen
+Plus
=Equal
{Open curly bracket
[Open Bracket
}Close curly bracket
]Close Bracket
|Pipe
\Backslash
:Colon
;Semicolon
Double quotes
single quotes
<Less than Bracket
,Comma
>More than Bracket
.Full Stop
?Question mark
/Forward Slash
Windowsयह Window key होती है जो सिर्फ सामान्य कीबोर्ड में ही मिलती है। 
CommandCommand key सिर्फ Apple MAC में ही मिलती है। 
EscEsc key किसी भी चल रही प्रक्रिया को बंद करने और उससे बाहर निकलने के काम आती है। 
MenuMenu key कंप्यूटर में किसी भी application के अंदर Menu खोलने का कार्य करती है। 
TabTab Key बिना पॉइंटिंग डिवाइस के किसी भी tab को सेलेक्ट कर लेती है। 
ShiftShift Key को modifier key भी बोला जाता है। यह ज्यादा तर शॉर्टकट्स के साथ इस्तेमाल होती है। 
Caps LockCaps Lock key एक Toggled key होती है। इसको दबाते ही सभी letters uppercase या lowercase में type होने लगते है। 
F1 – F12F1 key से लेकर F12 Key तक हर एक key का हर application या software में अलग कार्य होता है। 
FnFn Key का कार्य F1 key से लेकर F12 तक उनके seconday function को ON करना होता है। 
CtrlControl Key भी एक Modifier key होती है। इसको कीबोर्ड शॉर्टकट्स में कैसे इस्तेमाल करते है मैंने ऊपर बताया है। 
ArrowArrow keys को direction keys भी कह सकते है। बिना पॉइंटिंग डिवाइस के यह कर्सर को चलाने के काम आती है। 
AltAlter key भी एक modifier key होती है। इसको भी कीबोर्ड शॉर्टकट के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह सर सामान्य कीबोर्ड में होती है। MAC के कीबोर्ड में इसकी जगह Option Key होती है। 
BackSpaceBackSpace key किसी भी text को Reverse करने या मिटाने के कार्य करती है। 
Space BarSpace Bar Key दो words के बीच में Space प्रदान करती है। 
DeleteDelete Key किसी भी selected File, text, आदी को delete करती है। 
Print ScrnPrint Screen key open window को print करती है। 
EnterEnter key किसी भी selected file को खोलती है और Text Editor में अगली लाइन में पहुँचाती है। 
Scroll LockScroll Lock key arrow keys के साथ Scrolling करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। और इसको Scrolling रोकने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। 
PausePause key को Running activity pause करने के लिए इस्तेमाल करते है। इसका इस्तेमाल ज्यादातर गेम्स के अंदर होता है। ताकि गेम को रोका जा सके। 
BreakBreak Key का कोई आपका खुदका function नहीं होता। यह सॉफ्टवेयर के ऊपर निर्भर करता है की वह इसको इस्तेमाल करता है या नहीं। Break key को सक्रिय करने के लिए Ctrl + Pause के को एक साथ दबाना होता है। 
HomeHome key का कार्य जिस लाइन में आप कुछ लिख रहे है उसी लाइन में Cursor को शुरुवात में लाना होता है। 
InsertInsert Key 
PgUpPage Up 
PgDnPage Down 
EndEnd key पेज के सबसे आखिर में लेजाने का कार्य करती है। 
Num LockNum Lock Key Numeric keypad को ON और OFF करती है। 

 

आज आपने क्या सीखा – Keyboard in Hindi

आज आपने कीबोर्ड के बारे में बहुत साड़ी बाते जानी है जैसे कीबोर्ड क्या होता है? (What is Keyboard in Hindi), कीबोर्ड के प्रकार (Types of Keyboard in Hindi ), कीबोर्ड के अंदर keys के प्रकार ( Types of Keys in Keyboard in Hindi ), आदी। मुझे आशा है की आज मैंने आपको कीबोर्ड के बारे में जानकारी जितनी भी दी वो सब समझ आयी होगी। कीबोर्ड के बटन के के बारे में जानकारी समझ आयी होगी। 

अबतक आपके मन में कीबोर्ड से सम्बंधित जितने भी प्रशन होंगे वो सब ख़तम हो गए होंगे। लेकिन अगर अभी भी आपके मन में कीबोर्ड से सम्बंधित कोई प्रश्न रहगया है। तो आप उसको निचे Comment के माध्यम से पूछ सकते है। 

अबतक हम कीबोर्ड ( Keyboard in hindi ) के बारे में बहुत कुछ जान चुके है अब उससे सम्बंधित कुछ प्रश्नो के उत्तर भी जान लेते है।

F.A.Q ( Question Hub )

कीबोर्ड की सहायता से किस प्रकार ड्रॉप डाउन मेन्यू पा सकते है?

कीबोर्ड की मदत से ड्रापडाउन मेन्यू को खोलने के लिए सबसे पहले कीबोर्ड में दाए तरफ स्थित Alt key को दबाए। उसके बाद Space Bar या Enter key को दबाने से ड्राप डाउन मेन्यू खुल जाएगा। 

कीबोर्ड के फुल फॉर्म?

वैसे तो कीबोर्ड की कोई एक specific फुल फॉर्म नहीं होती लेकिन कीबोर्ड की फुल फॉर्म आम तोर पर “Keys Electronic Yet Board Operating A to Z Response Directly” बताई जाती है। 

कीबोर्ड के अंदर कितनी Alphabetic Keys होती है?

कीबोर्ड के अंदर कल मिलकर 104 keys होती है। जिनमे से 26 alphabetic keys होती है। 

कीबोर्ड में कितनी Number keys होती है?

कीबोर्ड के अंदर 10 number keys होती है। 

कीबोर्ड में Function keys कितनी होती है?

कीबोर्ड के अंदर कुल मिलकर 12 Function keys होती है। जो की है -: F1, F2, F3, F4, F5, F6, F7, F8, F9, F10, F11, F12. लेकिन अगर हम apple के कीबोर्ड की बात करे तो उसमे 19 function keys होती है। 

कीबोर्ड में कितने symbol keys होती है?

कीबोर्ड के अंदर वैसे तो 40 symbol keys होती है। लेकिन हर कीबोर्ड में यह 40 नहीं होती। कई कीबोर्ड में यह 28 भी हो सकती है कई में ज्यादा और कम भी। Symbol keys के कम या ज्यादा होने का मुख्या कारन यही है की कुछ कीबोर्ड में एक key के ऊपर ही दो या तीन symbol होते है और कई केबपर्द में एक key के ऊपर सिर्फ एक ही symbol होता है। 

Numeric keypad में कितनी keys होती है

एक सामान्य QWERTY कीबोर्ड में Numeric keypad के अंदर 17 keys होती है। वही दूसरी तरफ Apple Mac के Numeric keypad में 19 Keys होती है। 

कीबोर्ड में किस धातु का उपयोग किया जाता है?

यह कोई जरुरी नहीं है की हर कीबोर्ड एक ही प्रकार के धातु से बने। यह निर्भर करता है आपके उप्पेर की आप किस धातु से बने कीबोर्ड को इस्तेमाल कर रहे है। आमतौर पर कीबोर्ड प्लास्टिक, जैसे पदार्थ से बनाए जाते है। 

Leave a Comment