कीबोर्ड क्या है और इसके प्रकार क्या होते है? – Keyboard in Hindi

Keyboard in Hindi : दोस्तों जैसे की आप जानते ही होंगे की कंप्यूटर किसी एक part या हार्डवेयर से नहीं बनता। इसको बनाने के लिए हार्डवेयर, इनपुट और आउटपुट डिवाइस, आदी की जरुरत पढ़ती है। जैसे की RAM, CPU, GPU, माउस, motherboard, आदी। यह सभी कंप्यूटर के लिए बहुत जरुरी होते है। हालांकि इनमे से सबसे जरुरी तो हार्डवेयर और आउटपुट डिवाइस है। क्योकि हार्डवेयर के बिना न तो कंप्यूटर बन सकता है और आउटपुट डिवाइस के बिना न हम कुछ देख पाएंगे की कंप्यूटर के अंदर की चल रहा है। लेकिन जब बात इनपुट डिवाइस की आती है। तो इनकी भी कंप्यूटर के अंदर बहुत अहम् भूमिका होती है।

भले ही आप एक कंप्यूटर बना ले या कही से खरीदके ले आए। लेकिन बिना इनपुट डिवाइस के चला नहीं पाएंगे। क्योकि कंप्यूटर को चलाने के लिए उसको इनपुट देना पढता है। जब तक उसको कोई इनपुट नहीं मिलता तब तक वह अपनी मर्जी से कुछ कार्य नहीं कर सकता। इनपुट देने के लिए सबसे मह्तवपूण डिवाइस कीबोर्ड होता है। कंप्यूटर के अंदर सबसे ज्यादा इनपुट कीबोर्ड की मदत से ही दिया जाता है।

आज हम इस लेख में सबसे महत्वपूर्ण इनपुट डिवाइस कीबोर्ड के बारे में जानेंगे। की कीबोर्ड क्या होता है? (Keyboard in Hindi), कीबोर्ड के प्रकार, इसका इतिहास, और कीबोर्ड के कुछ उदहारण। तो चलिए बिना और वक़्त गवाए पहले की कीबोर्ड की होता है।

Keyboard in Hindi
Keyboard in Hindi

कीबोर्ड क्या होता है – What is Keyboard in Hindi

कीबोर्ड एक महत्वपूर्ण इनपुट डिवाइस है। कंप्यूटर को इस्तेमाल करने के लिए सबसे ज्यादा जरुरत कीबोर्ड की पढ़ती है। कीबोर्ड की मदत से यूजर कंप्यूटर के अंदर characters जैसे letters, symbols और numbers लिख सकता है। कीबोर्ड की मदत से कंप्यूटर में किसी भी character लिखने को Typing कहा जाता है। कीबोर्ड सिर्फ character लिखने के काम ही नहीं आता। यह और भी कार्य करता है।

कीबोर्ड के अंदर बहुत सारे button और switches लगे हुए होते है जिनको keys कहा जाता है। जब भी कोई यूजर किसी key को दबाता है। तो एक circuit बंद होजाता है। जिसकी वजह से कंप्यूटर को signal मिलता है। और यह signal कंप्यूटर को बताता है की कोनसा letter, number या symbol लिखना है। और इसके बाद ही कंप्यूटर स्क्रीन पर character दीखता है। 

कीबोर्ड लिखने के अलावा भी बहुत से कार्य करता है। कीबोर्ड के पास चार arrow keys होती है जिसकी मदत से हम लिखते समय cursor को उप्पर, निचे, दाए और बाए लेजा सकते है। दो Ctrl keys होती है। Ctrl key का इस्तेमाल दूसरी keys के साथ किया जाता है। जैसे की Ctrl और C को आप एक साथ दबाएंगे तो किसी भी Text, file, audio, video, आदी को कॉपी कर पाएंगे। और इसी की तरह अगर आप Ctrl और V को एक साथ इस्तेमाल करते है। तो आप कॉपी की हुई चीज की एक नक़ल कही भी paste कर पाएंगे।

कीबोर्ड की ऐसी ही और भी खासियत के बारे में हम निचे बात करेंगे। तो इस लेख को आखिर तक पढ़िएगा। 

कीबोर्ड के कितने प्रकार है – Types of Keyboard in Hindi

वैसे तो कीबोर्ड (Keyboard in Hindi) कई प्रकार के होते है। लेकिन इसके 2 प्रकार ऐसे है जिसके उप्पर बाकी प्रकार बने है। पहला है Basic Keyboard  और दूसरा है Extended Keyboard . अब आप सोच रहे होंगे आखिर यह Basic और extended क्या है। देखने में तो सभी कीबोर्ड एक समान ही लगते है। लेकिन ऐसा नहीं है। कीबोर्ड के प्रकार और उनके अंदर इस्तेमाल होने वाली टेक्नोलॉजी अलग अलग होते है। जैसे की Full press membrane keyboard, यह ऐसी कीबोर्ड टेक्नोलॉजी है जो सबसे ज्यादा कंप्यूटर के साथ इस्तमाल होता और एक होता है Scissor switch keyboard यह ज्यादा तर notebook जैसे डिवाइस के साथ इस्तेमाल होता है। 

तो अब सबसे पहले हम Keyboard in Hindi के प्रकार के बारे में जानकारी ले लेते है। 

कीबोर्ड के तीन प्रकार होते है। 

1. QWERTY Keyboard 

यह कीबोर्ड सबसे प्रचलित कीबोर्ड है। इसकी keys का pattern typewriter के keys की तरह होता है। जब भी कोई इंसान चाहे बच्चा हो या बूढ़ा कंप्यूटर में typing करना सीखता है तो सबसे पहले इसी कीबोर्ड से उससे सिखाया जाता है। QWERTY कीबोर्ड सबसे सामान्य कीबोर्ड है यह आमतोर पर हर कंप्यूटर के साथ देखने को मिल जाता है। और इसी कारन ज्यादातर लोग सिर्फ एक ही कीबोर्ड के बारे में जानते है। और उन्हें लगता है की कीबोर्ड सिर्फ एक प्रकार का होता है। 

2. DVORAK Keyboard

इसका डिज़ाइन दूसरे कीबोर्ड से अलग होता है। इस कीबोर्ड को जल्दी जल्दी type करने के लिए  बनाया