$3.6 बिलियन डॉलर के बिटकॉइन की हुई चोरी – $3.6 Billion of bitcoin get stolen

आज के समय में पैसे कमाने के नए-नए तरीके मार्केट में आते रहते हैं। उनमें से कुछ legal और सही होते हैं और कुछ illegal मतलब गैरकानूनी होते हैं। आम आदमी पैसे कमाने के लालच में इन दोनों में फर्क करे बगैर ही उन तरीकों को अपनाने लगता है। जो की शुरुआत में तो उनको थोड़ी बहुत खुशी देते हैं लेकिन बाद में उनको बहुत सारी परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है।

अब ऐसे ही पैसे कमाने का एक तरीका जो कि भारत जैसे देश में भी धीरे-धीरे फैलता जा रहा है, वह है क्रिप्टोकरेंसी। कुछ समय पहले तक क्रिप्टोकरेंसी के बारे में ज्यादा लोगों को जानकारी नहीं हुआ करती थी। लेकिन जब से एलोन मस्क ने डोजकॉइन को प्रमोट करना चालू किया है। उसके बाद से क्रिप्टोकरंसी के प्रति लोगों की लोकप्रियता बढ़ने लगी है। 

क्रिप्टोकरेंसी के अंदर मिडिल क्लास वाले लोग भी अपने पैसे इन्वेस्ट करने लगे है। यह कई लोगों के लिए तो बहुत ज्यादा फायदेमंद रहा और कईयों के लिए नुकसानदायक भी रहा। अभी जैसा कि मैंने आपको ऊपर बताया कि पैसे कमाने का अगर कोई तरीका मार्केट में आता है तो साथ में आते हैं उससे संबंधित scam।

Bitcoin get stolen

AFRICRYPT से बिटकॉइन की चोरी – Bitcoin get stolen

आज क्रिप्टो करेंसी से संबंधित बहुत बड़े scam की खबरें अफ्रीका जो की एक देश है। उससे निकल कर आ रही हैं। अफ्रीका में एक AFRICRYPT नाम की क्रिप्टोकरंसी इन्वेस्टमेंट फर्म थी। इस कंपनी को दो भाइयों के द्वारा चलाया जाता था जिनका नाम Raees Cajee और Ameer Cajee है। इस फर्म का काम लोगों के पैसे को क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में इन्वेस्ट करके उनको प्रॉफिट देना था।

अपने शुरुआती समय में इस कंपनी ने लोगों को कई गुना प्रॉफिट दिया। लेकिन अभी 2 महीने पहले ही यह खबर आई की इस कंपनी के वॉलेट को हैक कर लिया गया है। जिसमें इनके वॉलेट में से सभी बिटकॉइन की चोरी कर ली गई थी। आपको यह बता दू कि जिस समय इनके वॉलिट से बिटकॉइन की चोरी हुई थी। उस समय बिटकॉइन की कीमत भारत में 2500000 रुपए थी। तो अगर हम Estimate बताएं तो चोरी पूरी $3.6 बिलियन डॉलर की हुई है।

Read More:-

जब इन्वेस्टर को इसके बारे में पता लगा तो कंपनी के मालिकों ने उनको पुलिस को यह बताने से मना कर दिया। उन्होंने इन्वेस्टर्स को यह आश्वासन दिलाया कि वह चोरी हुए बिटकॉइन को जैसे-तैसे रिकवर कर लेंगे। और इसी के बारे में सोचते हुए किसी भी इन्वेस्टर ने 2 महीने तक पुलिस को इसके बारे में नहीं बताया। 

bloomberg की रिपोर्ट के हिसाब से बिटकॉइन की चोरी (Bitcoin get stolen) के थोड़े समय बाद जब इन्वेस्टर ने कंपनी के मालिकों को फोन किया तो उनका फोन वॉइस-मेल के ऊपर रीडायरेक्ट हो गया। और इसके बाद ही 20 लोगों के ग्रुप ने एक कानूनी संस्था के जरिए कोर्ट में इन दोनों भाइयों के खिलाफ केस दर्ज कराया।

केस दर्ज होने के बाद जब पुलिस ने इनकी छानबीन शुरू करें तो पता चला कि यह दोनों भाई फरार हो चुके थे। और इन दोनों का इस समय कोई भी ठिकाना पुलिस को नहीं मिला है। 

Disclaimer

इस वेबसाइट पर दी गई जानकारी शैक्षिक और मनोरंजन उद्देश्यों के लिए है। इस वेबसाइट पर उपलब्ध कराई गई जानकारी निवेश सलाह, वित्तीय सलाह या व्यापारिक सलाह का गठन नहीं करती है। Hindi Tech World किसी भी क्रिप्टोकरेंसी को खरीदने की अनुशंसा नहीं करता है। क्रिप्टो बाजार अत्यधिक अस्थिर हैं और क्रिप्टो निवेश जोखिम भरा है। पाठकों को क्रिप्टोकरेंसी पर अपना शोध करना चाहिए और कोई भी क्रिप्टो निवेश करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से परामर्श करना चाहिए।

Leave a Comment